Tuesday, July 9, 2013

बूंद

हर बूँदों की अपनी कहानी है

कोई आँसुओ की रवानी

तो कोई बादलों का पानी है

अनमोल फिर भी हर बूंद

चाहे खारी या मीठी

गगरी का पानी है

बूँदों की इन बूंदा बाँदी में ही

इठलाती जीवन जिंदगानी है

छू जाती हर ह्रदय कोने को

बूँदों की ये अनमोल कहानी है

बूँदों की ये अनमोल कहानी है

No comments:

Post a Comment