Tuesday, March 26, 2013

लगाव

रंगों से हुआ ऐसा लगाव

रंगों की चाहत ने दुनिया ही बदल डाली

रंगरेज हो अनुभूति सारी

रंगीन बना डाली तस्वीर पुरानी

रंगीन हो गयी उजली उजली हर शाम सुहानी

रंगों के रंग रंग गयी जैसे

कोई साज पुरानी

रंगों की रंगीनी में खो

रंगीन मिजाज हो गयी चक्षु बेचारी

रंग ही रंग दिखे अब हर तरफ

छिटक रही जैसे रंगों से चाँदनी

रंगों के इस रंग

रंगीन हो गयी तस्वीर पुरानी 

No comments:

Post a Comment