Thursday, January 5, 2012

किस्मत का सितारा

फिजा की महक बन जाऊ

खाब्बों के रंग बन जाऊ

आँखों की नींद बन जाऊ

मिल जाये प्यार सच्चा तो

दिल के अरमान बन जाऊ

माथे की बिंदिया बन जाऊ

पूजा की थाल बन जाऊ

तुम जो चाहो तो तेरे इश्क में

देवदास बन जाऊ

मजनू बन जाऊ

दीवाना बन जाऊ

तू जो कह दे तो

तेरा सिंदूर बन जाऊ

तेरा चाँद बन जाऊ

तेरी किस्मत का सितारा बन जाऊ

No comments:

Post a Comment