Wednesday, August 10, 2011

संदेशा

बादलों में संदेशा है

हवाओं ने रुख मेरा घेरा है

वर्षा में रंग मेरा है

बूंदों में तन तेरा है

भींगे तुम जो सजन

मधुर मिलन ए अपना है

बादलों में संदेशा है

No comments:

Post a Comment