Sunday, June 19, 2011

नया भारत

आओ एक नया भारत गढ़े

नफरत की बेड़ियों में जकड़ी

दास्ता से इसे मुक्त करे

ज़हा ना भाषा को हो भेद

ना भाषा आधारित हो राज्य

ऐसी सुन्दर कल्पना साकार करे

सबको मिले समान अधिकार

स्वतंत्र हो सब प्रगट करने अपने विचार

जाति धर्म अमीरी गरीबी को भुला

खुद को हिन्दुस्तानी कहलाने में गर्व हो

ऐसे परिवेश की सृष्टि करे

आओ मिल बदल दे वक़्त की रफ़्तार

जन क्रांति से रच दे नया इतिहास

लोकतंत्र से जनतंत्र तक

पैगाम ए ह़र जनमानस तक पहुचा दे

स्वतंत्रता है हमारा जन्म सिद्ध अधिकार

आओ नये भारत की कल्पना को साकार बना दे

हकीक़त में अपना भारत महान बना दे

No comments:

Post a Comment