Friday, April 22, 2011

साँसों के साथ

जानेमन दिल तुने चुरा लिया

हमको नींद से जगा दिया

ह़र पल अब बाँहों को है

तेरा ही इन्तजार

मेरी साँसे अटकी है

तेरी साँसों के साथ

4 comments:

  1. कल 27/04/2012 को आपकी यह पोस्ट नयी पुरानी हलचल पर लिंक की जा रही हैं.आपके सुझावों का स्वागत है .
    धन्यवाद!

    ReplyDelete
  2. एक निवेदन
    कृपया निम्नानुसार कमेंट बॉक्स मे से वर्ड वैरिफिकेशन को हटा लें।
    इससे आपके पाठकों को कमेन्ट देते समय असुविधा नहीं होगी।
    Login-Dashboard-settings-posts and comments-show word verification (NO)

    अधिक जानकारी के लिए कृपया निम्न वीडियो देखें-
    http://www.youtube.com/watch?v=VPb9XTuompc

    धन्यवाद!

    ReplyDelete
  3. kisi ko toot ke chahna bayaan karti hai kalam haale dil tera.....aapki shayeri pasand aai likhte rahiye aur nikhaar aayega.shubhkamnayen.

    ReplyDelete
    Replies
    1. हौसला अफजाई के बहुत बहुत धन्यवाद्

      Delete