Thursday, December 23, 2010

सोहब्बत

सोहब्बत का असर है हमारी

रेगिस्तान में गुलाब खिला दिया

ओर बुझे बुझे दिल को

प्यार करना सीखा दिया

No comments:

Post a Comment