Friday, December 10, 2010

सर की कसम

जिया ऐसे फिर ना तड़पाना

हमें यू ना मार डालना

तेरे सर की कसम

तेरे लिए कुछ भी जायेंगे

सारी दुनिया से अकेले लड़ जायेंगे

No comments:

Post a Comment