Monday, February 15, 2010

वचन

परम्परा निभानी है

रस्म सदियों पुरानी है

आस्था बनी रहे

विश्वास टिका रहे

इसलिए सत्य पे अटल रहना है

दिया वचन निभाना है

No comments:

Post a Comment