Wednesday, November 11, 2009

तलाक

ठीक कहा तुने साथ अब अपना निभ सकता नहीं

मजबूरन ढोने पड़े उन रिश्तो की जरुरत नहीं

यार गाड़ी ऐसे चल सकती नहीं

तलाक से अच्छा सुझाब नहीं

No comments:

Post a Comment